कुलदीप यादव की जीवनी | Biography of Kuldeep Yadav

कुलदीप यादव की जीवनी | Biography of Kuldeep Yadav: भारतीय क्रिकेटर कुलदीप यादव जो घरेलू क्रिकेट उत्तर प्रदेश के लिए खेलते हैं। कुलदीप 2012 से 2014 तक मुंबई इंडियंस के लिए खेले और 2014 के बाद के कोलकाता नाईट राइडर के लिए खेले हैं।

कुलदीप यादव का जन्म उत्तर प्रदेश के उन्नाव जिले में 14 दिसंबर 1994 को हुआ। इनके पिता का नाम राम सिंह यादव व माता का नाम श्रीमती उषा यादव है।

कुलदीप यादव के क्रिकेट बनने के सपने को पूरा करने के लिए उनका परिवार कानपुर शहर में आ गया। कुलदीप यादव के पिता एक ईंट के भट्टे के मालिक थे।

कुलदीप यादव की जीवनी | Biography of Kuldeep Yadav

Personal information
Born 14 December 1994 (age 26)
Kanpur, Uttar Pradesh, India
Height 1.68 m (5 ft 6 in)
Batting Left-handed
Bowling Slow left-arm wrist-spin
Role Bowler
International information
National side
  • India (2017–present)
Test debut (cap 288) 25 March 2017 v Australia
Last Test 13 February 2021 v England
ODI debut (cap 217) 23 June 2017 v West Indies
Last ODI 23 July 2021 v Sri Lanka
ODI shirt no. 23
T20I debut (cap 69) 9 July 2017 v West Indies
Last T20I 29 July 2021 v Sri Lanka
T20I shirt no. 23
Domestic team information
Years Team
2012 Mumbai Indians
2014–present Kolkata Knight Riders (squad no. 23)
2014–present Uttar Pradesh (squad no. 3)
Career statistics
Competition Test ODI T20I FC
Matches 8 65 21 33
Runs scored 54 118 47 866
Batting average 6.75 13.11 20.00 22.20
100s/50s 0/0 0/0 0/0 1/6
Top score 30 19 23* 117
Balls bowled 1063 3,480 453 6,118
Wickets 26 107 39 123
Bowling average 23.84 28.34 13.76 30.23
5 wickets in innings 2 1 1 6
10 wickets in match 0 n/a n/a 0
Best bowling 5/57 6/25 5/24 6/23
Catches/stumpings 3/– 9/– 8/– 13/–

कुलदीप यादव को अपने बचपन में ही क्रिकेट खेलने का काफी शौक था। वह क्रिकेट को ही अपना भविष्य बनाना चाहते थे और उन्होंने आगे चलकर क्रिकेट की राह पकड़ी और उसमें वह सफल भी हुए।

कुलदीप यादव अपने क्रिकेट कैरियर में की शुरुआत फास्ट बॉलर के रूप में कि अपने कोच कपिल पांडे की सलाह पर उन्होंने स्पिन गेंदबाजी शुरू की उन्होंने प्रयोग के तौर पर लेफ्ट आर्म गेंदबाजी की। इसे देखकर कोच ने यह महत्वपूर्ण सलाह दी कुलदीप यादव को स्प्रिंकलआर चाइनामैन गेंदबाजी के नाम से भी जाना जाता है। क्रिकेट की दुनिया में चाइनामैन गेंदबाजी काफी दुर्लभ मढ़ी जाती है।

जनवरी 2017 तक क्रिकेट की दुनिया में मात्र 28 से अधिक गेंदबाज है। जो अंतरराष्ट्रीय स्तर पर चाइनामैन गेंदबाजी करते हैं। अप्रैल 2012 में 17 वर्ष की आयु में सर्वप्रथम उनका चयन भारत की अंडर-19 टीम में हुआ हालांकि उनका नाम अंतिम सूची से बाहर हो गए।

मार्च 2017 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ कुलदीप यादव भारत के प्रतिनिधित्व करने वाले चाइनामैन गेंदबाज बन गए। भारत की क्रिकेट टीम में बदलाव आते रहते हैं जिसमें कुछ नए नाम सामने आते हैं तो कुछ पुराने खिलाड़ी पीछे हटते चले जाते हैं।

लेकिन इस बीच कुछ ऐसे खिलाड़ी सामने आए जिनकी बॉलिंग या बैटिंग का तरीका कितना अलग होता है। उन्हें चयन करना एक नजरअंदाज ही कर नहीं सकते ऐसे ही युवा खिलाड़ियों में कुलदीप यादव का नाम आया था। इनकी बॉलिंग स्टाइल केवल नही बल्कि टीम के लिए बहुत जरूरी भी है।

इन्होंने अपनी शिक्षा कर्मा देवी मेमोरियल अकादमी वर्ल्ड स्कूल कानपुर से कि इनकी हाइट 5 फुट 6 इंच है। यह बोलिंग लेफ्ट आर्म चाइनामैन से करते हैं। यह लेफ्ट हैंड बैट्समैन है।

2014 में आईसीसी अंडर 19 वर्ल्ड कप में कुलदीप यादव की हैट्रिक की अंडर-19 वर्ल्ड कप के इतिहास में हैट्रिक बनाने वाले पहले खिलाड़ी बने थे।

2016 में दिलीप दिलीप ट्रॉफी में तीन मैचों में 17 विकेट लिए और इंडिया रेड की टीम को फाइनल तक पहुंचाया।

2014 के अंदर वर्ल्ड कप में कुलदीप ने कैच लेकर चयनकर्ताओं का ध्यान खींच लिया था। बचपन में कुलदीप यादव टेनिस की गेंद से क्रिकेट खेलते थे। लेकिन वास्तव में उन्हें क्रिकेट में कोई खास रुचि नहीं थी वह पढ़ाई में होना चाहते थे।

लेकिन उनके पिता को क्रिकेट पसंद था।उनके पिता जी अपने बच्चे को क्रिकेट में रोजाना प्रतिमा को देखते हुए उसके लिए खेल में भविष्य का अस्तित्व थे और उन्होंने इसी कारण कुलदीप यादव को कपिल पांडे की देखरेख में क्रिकेट सीखने के लिए लोकल क्लब में भेजा।

कुलदीप यादव को आईपीएल 2012 में मुंबई इंडियंस के साथ कॉन्ट्रैक्ट मिला, लेकिन वे अपने डेब्यू सीजन में 11 खिलाड़ियों में ही जगह बनाने में कामयाब नहीं रहे आखिर में कुलदीप यादव आईपीएल में खेलने का मौका मिला और उन्होंने तीन मैचों में बेहतरीन प्रदर्शन किया।

इस कारण 2016 में उन्हें दिलीप रूप में खेलने का मौका मिला 3 मैचों में उन्होंने 17 विकेट लिए और टूर्नामेंट के फाइनल में पहुंचाने में महत्वपूर्ण योगदान दिया। उन्होंने अपनी बोलिंग में वेरीएसन और अच्छे कंट्रोल से भारत को जीत की उम्मीद जगाई थी।

इस टूर्नामेंट में 14 विकेट लेने के बाद उन्हें आईपीएल 2014 में कोलकाता नाइट राइडर्स ने चुन लिया गया।

कुलदीप यादव को अपने खेल के बारे में कहना है कि यदि मैं अपनी स्किल्स को लेकर निश्चित हो रहा हूं तो मैं सफल हो सकता हूं।

इस तरह मैं अपने काम पर और ज्यादा फोकस कर सकता हूं। इनके खेल की तारीफ सेन बोर्न और सचिन तेंदुलकर जैसे बड़े खिलाड़ियों ने कि, सचिन कुलदीप यादव को भारतीय क्रिकेट टीम की जरूरत मानते हैं और इस कारण ही उन्हें कुलदीप यादव ने डेब्यू टेस्ट मैच के दौरान बाद उनकी तारीफ में ट्वीट किया।

वही शेन वार्न ने भी इनकी खेल की प्रशंसा की जिससे उनका आत्मविश्वास बढ़ गया। इनके पसंदीदा बॉलर सेन कौन है।

इन्हे भी पढ़ें :

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.